Aiims Bilaspur Himachal News: Bjp Rashtriya Adhyaksh Jp Nadda Message To Congress – एम्स बिलासपुर: उपचुनाव में हार के बाद पहली बार आए हिमाचल, तारीफ के साथ सियासी संदेश भी दे गए नड्डा

धर्मेंद्र पंडित, अमर उजाला ब्यूरो, बिलासपुर
Published by: अरविन्द ठाकुर
Updated Mon, 06 Dec 2021 12:56 PM IST

सार

नड्डा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल का भी अटल टनल और अन्य उपलब्धियों की नींव रखने के लिए नाम लेकर सियासी संतुलन साधा। जयराम को प्रदेश का लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया। वैक्सीनेशन की डबल डोज में अव्वल आने पर तारीफ की।

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा।
– फोटो : संवाद

ख़बर सुनें

एम्स के मंच से अच्छे की पीठ न ठोके और गलत को घर न बैठाए, वह जागरूक समाज नहीं, कहकर नड्डा ने न केवल विपक्षी कांग्रेस को कड़ा संदेश दिया, बल्कि भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी चुनावी साल से पहले कमर कसने को कह दिया है। उपचुनाव में चारों सीटें गंवाने के बाद नड्डा पहली बार हिमाचल आए। सत्ता में होने और डबल इंजन की बात के बूते प्रचार करने वाली भाजपा को यहां जोरदार झटका लगा है। नि:संदेह इससे वे कन्नी नहीं काट सकते हैं। ऐसे में नड्डा का पहली बार सामना होने से भाजपा नेताओं की धड़कनों का बढ़ना भी स्वाभाविक रहा है। नड्डा प्रदेश में अपने सपनों का प्रोजेक्ट एम्स धरातल पर उतारने हिमाचल आए थे। 

पूर्व केंद्रीय सरकार में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री रहते उन्होंने इस संकल्प को जमीन पर उतारना शुरू किया था। यह आज मूर्त रूप में है। नड्डा ने इसका पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया। विपक्ष से भी सवाल किया कि प्रदेश में ऐसा इससे पहले क्यों नहीं हो पाया। कहा कि इस छोटे से प्रदेश को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के बाद अनुराग ठाकुर के रूप में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री मिलता है तो यह मोदी के राज में ही संभव हुआ है। नड्डा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल का भी अटल टनल और अन्य उपलब्धियों की नींव रखने के लिए नाम लेकर सियासी संतुलन साधा। 

जयराम को प्रदेश का लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया। वैक्सीनेशन की डबल डोज में अव्वल आने पर तारीफ की। जून तक एम्स का काम पूरा करने और पीएम मोदी के हिमाचल आने की बात कहकर अगले चुनावी साल में हिमाचल की इस बड़ी उपलब्धि का सियासी लाभ लेने की अपनी रणनीति भी जाहिर की। उपलब्धियों के बूते जनमत जुटाने और आराम करने वालों को घर बैठाने की बात कहकर प्रदेश के कई सियासी पंडितों को भी संदेश दिया। इस पहेली में उलझा दिया है कि आखिर उनकी इस बात के क्या-क्या मायने हैं। उन्होंने अपने लोगों से गले मिलने और समय की कमी होने की बात कर अपनी व्यस्तता का परिचय देते हुए कहा कि अपनी माटी और अपने लोगों से वह कभी जुदा नहीं हैं।

विस्तार

एम्स के मंच से अच्छे की पीठ न ठोके और गलत को घर न बैठाए, वह जागरूक समाज नहीं, कहकर नड्डा ने न केवल विपक्षी कांग्रेस को कड़ा संदेश दिया, बल्कि भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं को भी चुनावी साल से पहले कमर कसने को कह दिया है। उपचुनाव में चारों सीटें गंवाने के बाद नड्डा पहली बार हिमाचल आए। सत्ता में होने और डबल इंजन की बात के बूते प्रचार करने वाली भाजपा को यहां जोरदार झटका लगा है। नि:संदेह इससे वे कन्नी नहीं काट सकते हैं। ऐसे में नड्डा का पहली बार सामना होने से भाजपा नेताओं की धड़कनों का बढ़ना भी स्वाभाविक रहा है। नड्डा प्रदेश में अपने सपनों का प्रोजेक्ट एम्स धरातल पर उतारने हिमाचल आए थे। 

पूर्व केंद्रीय सरकार में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री रहते उन्होंने इस संकल्प को जमीन पर उतारना शुरू किया था। यह आज मूर्त रूप में है। नड्डा ने इसका पूरा श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया। विपक्ष से भी सवाल किया कि प्रदेश में ऐसा इससे पहले क्यों नहीं हो पाया। कहा कि इस छोटे से प्रदेश को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री के बाद अनुराग ठाकुर के रूप में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री मिलता है तो यह मोदी के राज में ही संभव हुआ है। नड्डा ने पूर्व मुख्यमंत्री प्रेमकुमार धूमल का भी अटल टनल और अन्य उपलब्धियों की नींव रखने के लिए नाम लेकर सियासी संतुलन साधा। 

जयराम को प्रदेश का लोकप्रिय मुख्यमंत्री बताया। वैक्सीनेशन की डबल डोज में अव्वल आने पर तारीफ की। जून तक एम्स का काम पूरा करने और पीएम मोदी के हिमाचल आने की बात कहकर अगले चुनावी साल में हिमाचल की इस बड़ी उपलब्धि का सियासी लाभ लेने की अपनी रणनीति भी जाहिर की। उपलब्धियों के बूते जनमत जुटाने और आराम करने वालों को घर बैठाने की बात कहकर प्रदेश के कई सियासी पंडितों को भी संदेश दिया। इस पहेली में उलझा दिया है कि आखिर उनकी इस बात के क्या-क्या मायने हैं। उन्होंने अपने लोगों से गले मिलने और समय की कमी होने की बात कर अपनी व्यस्तता का परिचय देते हुए कहा कि अपनी माटी और अपने लोगों से वह कभी जुदा नहीं हैं।

Related posts:

Farhan Akhtar Birthday Special: इस फिल्म के लिए 11 रुपये में किया था काम, मां ने इस वजह से दी थी घर ...
5 Girl Students Of Govt School In Rajasthan Allege Gang-rape By Teachers, 15 Booked - अलवर: स्कूल के...
Pm modi will inaugurate sports university in meerut on 2nd january nodns
Niti Aayog 4th Health Index Kerala Is The Second Most Affected State By Coronavirus After Maharashtr...
Those giving provocative speeches were punished according to the law RSS leader said a big thing on ...
120 laborers were treated as fake patients to get recognition of medical college nodelsp
Icsi cseet cs result 2022 sarkari result 2022 icsi release today cs executive entrance test and foun...
T20 World Cup 2021 Sourav Ganguly Discloses Virat Kohli Wanted Ravichandran Ashwin into Indian squad...
Pakistani bride enter in mandap holding photo of her mother
Indian economy back on track, GDP at 8.4 percent in the second quarter | पटरी पर लौट रही भारतीय अर्थ...
Ind vs WI rohit sharma clears fitness test ravindra jadeja team india
Corona In Delhi: Ddma Review Meeting Concluded, There May Be A Ban On Eating And Drinking In Restaur...
How derailed trains are rerailed trains on track amazing viral video ashas
Representatives Of Taxi Bus Unions Will Go On Hunger Strike In Delhi Today - दिल्ली: टैक्सी, बस यूनि...
Allahabad High Court over Compassionate Appointment in jaunpur case of teacher upns - अनुकंपा नियुक्...
Who global center for traditional medicine will be established soon as budget is allotted for ayush ...

Leave a Comment