Brazen bull history most deadly device to torture kill people ancient greece ashas

आज के वक्त में कई देशों में कैपिटल पनिशमेंट (Capital Punishment) यानी मौत की सजा का प्रावधान है. भारत में भी सजा-ए-मौत के लिए फांसी देने के विकल्प को चुना जाता है क्योंकि ये दोषी को तड़पाकर नहीं, एक बार में मौत के हवाले कर देने की प्रक्रिया है. मगर इतिहास मानवता के खिलाफ लगता था. इतिहास में लोगों के अंदर शायद मानवीय संवेदनाएं कम थीं, इस वजह से तड़पाकर मारने के ऐसे-ऐसे तरीके इजाद किए गए थे जो सबसे अलग थे. आज हम आपको बताने जा रहे हैं मौत की उस सजा के बारे में जिसे इतिहास में सबसे खतरनाक (History’s most dangerous torture device) माना जाता है.

प्राचीन ग्रीस (Ancient Greece) में मौत के सबसे खतरनाक तरीके का इस्तेमाल होता था. इसका नाम था ब्रेजेन बुल (brazen bull). 560 ईसा पूर्व ग्रीस के शहर एक्रागास (Akragas), जिसे आज सिसिली (Sicily) कहते हैं, में एक बेहद खूंखार राजा राज करता था. उस राजा का नाम था फेलैरिस (Phalaris). वो बेहद क्रूर था और उसके आतंक से जनता परेशान थी. कहा जाता है कि एक दिन उसके शाही शिल्पकार पेरिलॉस (Perilaus) ने उसके लिए एक बैल का निर्माण किया जो पीतल (bull made of brass to kill people) से बना था.

brazen bull device

इस बैल के अंदर लोगों को घुसाकर मौत की सजा दी जाती थी. (फोटो: Twitter/@99DREAMLAND)

सबसे खतरनाक मशीन
दिखने में ये बैल (ancient killing maching brazen bull) बेहद आकर्षक लग रहा था मगर ये अंदर से खाली था और इसमें कई तरह के पाइप लगे थे जो नाक और मुंह के रास्ते बाहर आते थे. इसे किसी को यातनाएं देने के लिए बनाया गया था. शख्स को अंदर डाल दिया जाता था और बैल के नीचे आग लगा दी जाती थी. इसके धीरे-धीरे पीतल गर्म होने लगता था और अंदर मौजूद शख्स भुन जाता था. इस यंत्र को इतिहास की सबसे खौफनाक मशीन मानी जाती है जिससे यातनाएं देकर किसी को मौत की सजा दी जाती थी.

शिल्पकार को ही राजा ने दी मौत
माना जाता है कि जब राजा ने इस यंत्र को देखा तो उसे इसका इस्तेमाल करने की हड़बड़ी होने लगी. उसने शिल्पकार से कहा कि वो दिखाए कि ये काम कैसे करता है. शिल्पकार जैसे ही बैल के पेट में घुसा, वैसे ही राजा ने बैल के नीचे आग लगवा दी. शिल्पकार अंदर ही अंदर जलने लगा और उसकी चीखें उस पाइप के जरिए बैल के अंदर से, बैल की आवाज बनकर आने लगीं. इस हरकत ने राजा को बहुत खुशी दी और कहते हैं कि उसने फिर कई लोगों को इसके जरिए मौत के घाट उतारा. हालांकि कई इतिहासकार और इतिहास से जुड़ी वेबसाइट्स का दावा है कि ये मशीन काल्पनिक है. ऐसी इतिहास में कोई भी मशीन नहीं थी.

Tags: Ajab Gajab news, Weird news

Related posts:

Cm nitish kumar and his minister officers taken oath on liquor ban 150 mla still pending bruk
Realme GT 2 Pro will be powered by Snapdragon 8th Generation 1 processor | रियलमी जीटी 2 प्रो स्नैपड...
Quinton De Kock Retirement Beginning Of 2021 As Test Captain Retires At The End Of The Year - De Koc...
Explainer Meerut- With Meerut becoming an IT hub, youth will get employment in the field of technolo...
BYJUS Young Genius2 meet jui keskar the girl who made device for parkinson disease
Prakash godara nsui state general secretary arrested in paper leak case paper sold 15 lakh rsmssb vd...
Bharat Biotech Says we Request Healthcare Workers To Be Vigilant And Ensure That Only Covaxin admini...
What Are The Secrets Of Success Of Riya Jain Who Brought The Highest Marks-safalta - Up Board Exam 2...
Indian consumers have increased interest in electric and hybrid vehicles report pmgkp
Madras high court says temple can not usurp land god is omnipresent
Corona News Update, Coronavirus Cases In India, Omicron Updates, Health Ministry Updates, Precaution...
Chandrashekhar azad challenge to akhilesh yadav and mayawati do they accept during uttar pradesh ass...
Bihar Cm Nitish Kumar Tests Positive For Coronavirus Latest Covid 19 Update  - Bihar Corona: मुख्यमं...
Horoscope Today Aaj Ka Rashifal 02 February 2022 Dainik Rashifal Daily Horoscope In Hindi - Horoscop...
Dharm Sansad Hate Speech: Sit Team Will Meeting Today - हेट स्पीच: हरिद्वार धर्म संसद में भड़काऊ भाष...
Uttarakhand Election 2022: Prahlad Joshi Arrived In Bjp Election Management Committee Meeting - उत्त...

Leave a Comment