Centre directive to BARC issue news rating according to the revised system with immediate effect

नई दिल्ली: नई दिल्ली: केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ( Ministry of Information and Broadcasting) ने बुधवार को ब्रॉडकास्टर्स ऑडियंस एंड रिसर्च काउंसिल (बार्क) को निर्दश दिया कि वह तत्काल प्रभाव से टेलीविजन समाचार रेटिंग को जारी करे. केंद्र सरकार की तरफ से अक्टूबर 2020 में कथित टीआरपी घोटाले विवाद के टेलीविजन समाचार रेटिंग के निलंबन के एक साल बाद यह कदम उठाया गया है. अक्टूबर 2020 में मुंबई पुलिस द्वारा टीआरपी घोटाले का खुलासा करने के बाद, एनबीडीए ने बार्क इंडिया को टीवी समाचार रेटिंग जारी करने से पहले अपने सिस्टम को ओवरहाल करने के लिए कहा था.

इससे पहले ‘ब्रॉडकास्टर्स ऑडियंस एंड रिसर्च काउंसिल’ यानी बार्क ने केंद्र से कहा था कि उसने इंडिया में टेलीविजन प्रक्रियाओं, प्रोटोकॉल और निगरानी तंत्र को और अधिक मजबूत बनाने के लिए कई कदम उठाए हैं. न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एंड डिजिटल एसोसिएशन (एनबीडीए) ने एक प्रेस विज्ञप्ति ने कहा कि एनबीडीए बीएआरसी इंडिया की तरफ से उठाए गए कदम की सराहना करता है. मंत्रालय ने बार्क को समाचार रेटिंग के साथ साथ पिछले तीन महीने के आंकड़े मासिक रूप से जारी करने के निर्देश दिए हैं.

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा गया कि संशोधित प्रणाली के अनुसार समाचार और अन्य प्रारूप की रिपोर्टिंग चार सप्ताह के रोलिंग औसत पर होगी. इसके साथ ही मंत्रालय ने टीआरपी सेवाओं के उपयोग के लिए ‘रिटर्न पाथ डेटा’ (आरपीडी) क्षमताओं का लाभ उठाने पर विचार के लिए प्रसार भारती के सीईओ की अध्यक्षता में एक वर्किंग समूह का भी गठन किया है.

यह भी पढ़ें- ओमिक्रॉन से बचने के लिए मास्क में अपनाएं ये खास तरीका, हांगकांग के हेल्थ एक्सपर्ट ने दी बड़ी राय

इस समूह के गठन की अनुशंसा भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण और टीआरपी समिति ने भी अपनी रिपोर्ट में की थी. इस संयुक्त कार्य समिति में प्रसार भारती के सीईओ एसएस वेम्पति के अतिरिक्त पांच अन्य सदस्य भी होंगे. समूह वर्तमान रेटिंग के तरीके में सामान्य प्रोटोकॉल, डेटा मानकों और संशोधनों को तय करेगा ताकि आरपीडी सक्षम एसटीबीएस के डेटा को वर्तमान टीवी रेटिंग सिस्टम में एकीकृत किया जा सके.

टीआरपी कमेटी की रिपोर्ट और 24 अप्रैल, 2020 की ट्राई की सिफारिश में यह शामिल है कि ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बीएआरसी) ने अपनी प्रक्रिया, प्रोटोकॉल, निगरानी तंत्र में संशोधन किया है और शासन संरचना में भी बदलाव शुरू किए हैं.

इस मामले में प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए इंडिया टीवी के प्रमुख संपादक और न्यूज ब्राडकास्टर्स एंड डिजिटल एसोसिएशन (एनबीडीए) के अध्यक्ष रजत शर्मा ने कहा, ‘‘ मंत्रालय ने खामियों का संज्ञान लेकर और रेटिंग जारी करने के लिए समयसीमा निर्धारित करने समेत सुधार की गुंजाइश पर मुहर लगाकर एनबीडीए के रुख को न्यायोचित ठहराया है.’’

Tags: BARC

Related posts:

Arvind kejriwal chandigarh municipal corporation election aap bjp update
How to get rid of blackness of underarms after shaving mt
More Than Two Hundred New Cases Of Corona Reported In Mathura Vrindavan - मथुरा में बढ़ रहा कोरोना स...
Recruitment Scam: Five Upsssc Personnel Will Be Prosecuted, Found Guilty In Vigilance Investigation ...
Bsf Fired On Drone Sighted In Gurdaspur Sector Near International Border Of Punjab - पंजाब: गुरदासपु...
After HC gives nod Gangasagar Mela starts today know the details Lak
Fir fame actress kavita kaushik reacts on bollywood actor hrithik roshan shirtless photo
Education - 2047 में भारत कैसा हो बताएंगे बच्चे
Agra Advocates Warn To Use Nota In Up Elections 2022 - आगरा मांगे खंडपीठ: अधिवक्ताओं ने दिया नारा- ज...
Gunfiring In Wedding Reception Of Son Of Cabinate Minister Cabinet Minister Mahendrajit Singh Malviy...
Rahul Dravid Birthday 11 January the wall of Indian cricket know about his career and records
Panna: Thousands Of Quintals Of Paddy Lying In The Open Got Drenched In Rain, Even After Getting Inf...
Cm Basavaraj Bommai, On Bjp Mla Yelhanka Sr Vishwanath Alleging A Murder Plot Against Him By Local C...
Merry Christmas 2021 Cookie Cake Roast Potatoes Chicken neer
Ashes 2021 2022 pink ball test england eyes to ruin australia day night record - Ashes 2021-2022: डे
Allahabad University postpone admission process due to corona

Leave a Comment