Ct Scan Machine Death Case Victim Parents Want Justice In Agra – सीटी स्कैन मशीन में बेटे की मौत: पुलिस ने नहीं की कोई कार्रवाई, इशारों से दर्द बयां कर इंसाफ मांग रहे मूकबधिर मां-बाप

मृतक दिव्यांग के माता-पिता
– फोटो : अमर उजाला

आगरा के नाई की मंडी के ढाकरान स्थित अग्रवाल डायग्नोस्टिक सेंटर में धनौली के रहने वाले विनोद के तीन साल के बेटे दिव्यांश की सीटी स्कैन के दौरान मौत हो गई थी। परिजनों ने आरोप लगाया था कि दिव्यांश को तीन इंजेक्शन दिए गए थे। इस वजह से उसकी हालत बिगड़ गई। डॉक्टर और कर्मचारियों ने उसे अस्पताल लेकर जाने के लिए बोल दिया। विनोद और उसकी पत्नी वंदना मूकबधिर हैं। इसलिए कुछ कर नहीं पाए।

संबंधित खबर- सीटी स्कैन मशीन में बच्चे की मौत: हंसते हुए गया मासूम… मशीन से बाहर निकाला तो थम चुकी थीं सांसें

वह बेटे को लेकर नामनेर स्थित अस्पताल पहुंचे, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। इस पर परिजन वापस डायग्नोस्टिक सेंटर में आए तो ताला लगा हुआ मिला। हंगामा होने पर पुलिस पहुंची। पुलिस ने लापरवाही से मौत के मामले में डायग्नोस्टिक सेंटर के डॉक्टर, कर्मचारी और एसआर हॉस्पिटल के डॉक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था, लेकिन अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है। इससे परिजनों के साथ क्षेत्रीय लोगों में आक्रोश है। 

पिता ने इशारों से बयां किया दर्द
– फोटो : अमर उजाला

सोमवार को सुबह करीब 11:00 बजे विनोद और उसकी पत्नी वंदना अपने परिजनों और मूकबधिर साथियों के साथ कलक्ट्रेट पहुंचे। उन्होंने बेटे को इंसाफ दिलाने के लिए पुलिस अधिकारियों से गुहार लगाई। उन्होंने इशारे से ही अपना दर्द बयां किया। मामले में कार्रवाई की मांग की। 

सीटी स्कैन मशीन में जाता मासूम
– फोटो : अमर उजाला

विनोद के भाई प्रमोद ने बताया कि डायग्नोस्टिक सेंटर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज को देखे देखा जाए। इससे पता चल जाएगा कि डॉक्टर ने तीन इंजेक्शन लगाए थे। बच्चे की हालत बिगड़ने पर उन्होंने हाथ पैर भी मले थे। अगर, उनकी लापरवाही नहीं थी तो वह क्लीनिक बंदकर क्यों भाग गए। 

इसी सेंटर पर हुआ था सीटी स्कैन
– फोटो : अमर उजाला

इस संबंध में सीओ कोतवाली अर्चना सिंह ने आश्वासन दिया कि वह अपनी शिकायत दे दें। जांच कर कार्रवाई की जाएगी। मगर, इससे परिजन संतुष्ट नहीं थे। परिजनों ने दिव्यांश के शव का दोबारा पोस्टमार्टम कराने की मांग की है। 

सीटी स्कैन से पहले की तस्वीर
– फोटो : अमर उजाला

विनोद का बेटा दिव्यांश छत से गिर गया था। इससे उसे चोट लगी थी। वह उसे नामनेर स्थित एसआर अस्पताल में लेकर आए थे। डॉक्टर ने शाम को उसको सीटी स्कैन के लिए भेज दिया। इस पर सुभाष पार्क स्थित डॉ नीरज अग्रवाल के सेंटर पर लेकर आए थे। यहां पर दिव्यांश को इंजेक्शन लगाए गए। अचानक उसकी तबीयत बिगड़ गई। आरोप है कि सीटी स्कैन के दौरान उसकी मौत हो गई थी। 

Related posts:

Bajaj Twinner twin cylinder Pulsar Triumph Motorcycles Bajaj upcoming bike pulsar price mbh
Singer Gunjan Singh release new song Beautiful Laiki on the last day of 2021 Watch Video Bhojpuri So...
Congress Parliamentary Group To Meet Today, Here What Can Be Expected - शीतकालीन सत्र: संसद में किसा...
लखनऊ के 6 ठिकानों पर Income Tax की रेड, अब तक 3 करोड़ कैश बरामद – News18 हिंदी
Terrible effect of wrong injection spoiled the appearance woman's lost her lips shitri
Ind vs sa Quinton De Kock Will Have Point To Prove In ODI Series Says Temba Bavuma Marco Jansen debu...
Allahabad High Court: Why Should Sanskrit Be Treated Like A Stepmother, The High Court Said - The Au...
Entertainment news live blog 16 january 2022 bollywood hollywood tollywood and bhojpuri television n...
Hrtc: 40 Bus Conductors Corona Positive, Ticket Cutting System May Change - एचआरटीसी: 40 बस कंडक्टर ...
East Delhi Municipal Corporation Budget Today - एमसीडी : पूर्वी दिल्ली नगर निगम का बजट आज, लोक लुभाव...
तेजी से व्यापार गलियारे का केंद्र बन रहा त्रिपुरा | Tripura fast becoming the center of trade corrid...
Anand Ojha and Anjana Singh Love Express Bhojpuri trailer reminds us of Shahrukh and Kajol famous sc...
भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 1.14 अरब डॉलर घटकर 640.8 अरब डॉलर रहा
Ipl 2022 ahmedabad titans name of the indian premier league new franchise from ahmedabad
Bbl 11 Unmukt Chand Became First Indian Man To Play In Big Bash League Failed Like Ipl Hobart Hurric...
WHO again considers declaring monkeypox a global emergency

Leave a Comment