Dewar vs bhabhi fight in bhagwanpur assembly seat in uttarakhand election bsp banam congress

हरिद्वार. उत्तराखंड की भगवानपुर विधानसभा सीट (Bhagwanpur Assembly Constituency) के चुनावी मैदान में देवर और भाभी आमने-सामने होंगे. भाभी ममता राकेश को जहां कांग्रेस ने टिकट दिया है, वहीं देवर सुबोध राकेश बसपा की हाथी पर सवार होकर चुनौती पेश कर रहे हैं. दोनों पिछली बार भी आमने-सामने थे. ममता राकेश कांग्रेस से ही चुनावी मैदान में थीं, जबकि सुबोध भाजपा के टिकट से उतरे थे. तब देवर सुबोध पर भाभी ममता भारी पड़ी थीं. इस बार सुबोध पाला बदलकर बसपा में पहुंच गए हैं और भाभी के खिलाफ ताल ठोक रहे हैं. दरअसल, हरिद्वार की इस सुरक्षित सीट पर दलित आबादी निर्णायक स्‍थिति में है. यहां की राजनीति में राकेश परिवार का दबदबा रहा है.

उत्तराखंड के पूर्व मंत्री और राकेश परिवार के मुखिया सुरेंद्र राकेश का इस सीट पर दबदबा था. बसपा में रहते हुए उन्‍होंने 2007 और 2012 में जीत दर्ज की थी. बीमारी के चलते उनके निधन के बाद हुए उपचुनाव में उनकी पत्‍नी कांग्रेस के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरी थीं और जीत दर्ज की थी. बाद में परिवार में उत्तराधिकार की लड़ाई छिड़ गई. सुरेंद्र राकेश के छोटे भाई सुबोध राकेश ने बगावत कर दी. 2017 में भाजपा के टिकट पर वह भाभी के खिलाफ चुनावी मैदान में कूद पड़े थे. तब ममता उन पर भारी पड़ी थीं. उन्‍होंने 2513 वोटों से वह देवर सुबोध को हराया था. ममता राकेश को 44882 वोट मिले थे, जबकि सुबोध राकेश ने 42369 मत प्राप्‍त किया था.

सियासी उत्तराधिकार की है लड़ाई

सुबोध अब बसपा का दामन थाम चुके हैं. बसपा उन्‍हें भगवानपुर विधानसभा सीट से टिकट भी दे चुकी है. उनका कहना है कि भाई सुरेंद्र राकेश के असली उत्तराधिकारी वही हैं. भाई ने बसपा में रहते हुए विकास का एक सपना देखा था. अब उनके सपने को वह पूरा करेंगे. कांग्रेस ने भी जनता के बीच पिछले चुनाव में सुरेंद्र राकेश के उत्तराधिकार की लड़ाई जीत चुकीं उनकी पत्‍नी ममता राकेश पर ही भरोसा जताया है. देखना होगा कि भगवानपुर का मतदाता इस बार दोनों में से किसे कमान सौंपता है. इस सीट पर कांग्रेस, बसपा और भाजपा के बीच त्रिकोणीय लड़ाई देखने को मिलती है.

आपके शहर से (हरिद्वार)

उत्तराखंड


  • वायरल हो रहे बयानों पर इस संत ने कहा 'मेरी जान खतरे में', उत्तराखंड CM को बताया जिहादी एजेंट

    वायरल हो रहे बयानों पर इस संत ने कहा ‘मेरी जान खतरे में’, उत्तराखंड CM को बताया जिहादी एजेंट


  • हरिद्वार धर्म संसद केस: यति नरसिंहानंद गिरि को अब पुलिस ने हेट स्पीच मामले में किया गिरफ्तार

    हरिद्वार धर्म संसद केस: यति नरसिंहानंद गिरि को अब पुलिस ने हेट स्पीच मामले में किया गिरफ्तार


  • हरिद्वार: RBI अधिकारी से साठ-गांठकर बदलवाते थे 500-1000 के पुराने नोट, साढ़े चार करोड़ रुपये के साथ 7 गिरफ्तार

    हरिद्वार: RBI अधिकारी से साठ-गांठकर बदलवाते थे 500-1000 के पुराने नोट, साढ़े चार करोड़ रुपये के साथ 7 गिरफ्तार


  • उत्तराखंड STF का छापा: 4 करोड़ के पुराने नोट बरामद, 7 गिरफ्तार, RBI से नोट बदलवाने की कोशिश में था गैंग

    उत्तराखंड STF का छापा: 4 करोड़ के पुराने नोट बरामद, 7 गिरफ्तार, RBI से नोट बदलवाने की कोशिश में था गैंग


  • Big News: महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरफ्तार, नगर कोतवाली में समर्थकों का हंगामा

    Big News: महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद गिरफ्तार, नगर कोतवाली में समर्थकों का हंगामा


  • Uttarakhand Culture : गंगा के घाटों पर कम दिखी भीड़, लेकिन उत्तरायणी मेले में Covid पर आस्था भारी

    Uttarakhand Culture : गंगा के घाटों पर कम दिखी भीड़, लेकिन उत्तरायणी मेले में Covid पर आस्था भारी


  • Haridwar Hate Speech Case: धर्म परिवर्तन कर हिन्‍दू बनने वाले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्‍यागी गिरफ्तार

    Haridwar Hate Speech Case: धर्म परिवर्तन कर हिन्‍दू बनने वाले वसीम रिजवी उर्फ जितेंद्र नारायण त्‍यागी गिरफ्तार


  • Corona का कहर, मकर संक्रांति पर नहीं कर सकेंगे गंगा स्नान, उत्तराखंड सरकार ने लगाई रोक

    Corona का कहर, मकर संक्रांति पर नहीं कर सकेंगे गंगा स्नान, उत्तराखंड सरकार ने लगाई रोक


  • धर्म संसद विवाद : SIT को अब तक ट्रांसफर नहीं हुआ केस, उत्तराखंड पुलिस जांच की रफ्तार पर उठे सवाल

    धर्म संसद विवाद : SIT को अब तक ट्रांसफर नहीं हुआ केस, उत्तराखंड पुलिस जांच की रफ्तार पर उठे सवाल


  • धर्म संसद : मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले में यति नरसिम्हानंद, सिंधु सागर पर भी केस दर्ज

    धर्म संसद : मुसलमानों के खिलाफ भड़काऊ भाषण मामले में यति नरसिम्हानंद, सिंधु सागर पर भी केस दर्ज


  • बाबा रामदेव के दरगाह जाने पर यति नरसिंहानंद ने उठाए सवाल तो कहा- मैं जन्म से ही पाखंड का विरोधी

    बाबा रामदेव के दरगाह जाने पर यति नरसिंहानंद ने उठाए सवाल तो कहा- मैं जन्म से ही पाखंड का विरोधी

उत्तराखंड

Tags: Assembly elections, Haridwar news, Uttarakhand Assembly Election 2022

Related posts:

Sameer wankhede tenure as ncb zonal director ends dec 31 wont seek extension
Ration Will Now Be Available Twice A Month In Up: 15 Crore People Will Now Get Double Benefit Of Fre...
Traffic In Delhi: There Are Many Difficulties In The Way Of Public Transport - दिल्ली में आवागमन : स...
Sara ali khan marriage photos actress look like a married woman with vicky kaushal see photos an
More Than 100 Nihangs Reached Vivek Vihar Kasturba Nagar Tight Security In Area - दिल्ली: 100 से अधि...
16 thousand people will get their home ashok gehlot give jamin patta know details cgpg
BJP and Congress take suggestions public for election manifesto nodelsp
Kotdwar seat is in doubt as harak singh rawat do not want to participate in upcoming elections nodns
Due to rising corona virus cases meeting prisoners in jail have been banned till 31st january nodmk8
दूसरा चरण होगा खास, रामपुर, बरेली, सहारनपुर और बदायूं जैसी सीटों पर होगा घमासान- second phase voting...
Gold Price Today 05 january 2022 Continue To Rise For 5th Consecutive Days samp
Samajwadi Party leader Abu Azmi hit BJP and PM Narendra Modi says Incompetent governments talks abou...
Mppsc Recruitment  Last Date To Apply For Mppsc State Services And Forest Services Pre Exam 2021 Is ...
Harish rawat claims meditation caves built by congress talks on ticket other credits
Video viral husband of circle inspector was holding janata darbar she has been dismissed of her duty...
Which Points Of Current Affairs Questions Will Be Asked In The Exam Of Up Police Constable Recruitme...

Leave a Comment