Extreme Weather Claimed 1750 Lives In India In 2021 Maharashtra Most Affected Know All Detail In Hindi – Extreme Weather: भीषण मौसमी घटनाओं के चलते 2021 में गई 1750 लोगों की जान, महाराष्ट्र सबसे ज्यादा प्रभावित

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: गौरव पाण्डेय
Updated Fri, 14 Jan 2022 07:55 PM IST

सार

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग ने अपना वार्षिक जलवायु बयान जारी किया है। इसके अनुसार पिछले साल देश में चरम मौसमी घटनाओं में कुल 1750 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी थी।

असम में बाढ़ से कुछ ऐसे बन गए थे हालात
– फोटो : पीटीआई (फाइल)

ख़बर सुनें

भीषण मौसमी घटनाओं के चलते साल 2021 में 1750 लोगों की मौत हुई। देश में महाराष्ट्र ऐसी घटनाओं से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा जहां 350 लोगों की इस कारण से जान गई। महाराष्ट्र के बाद ओडिशा और मध्यप्रदेश इन घटनाओं से सबसे ज्यादा प्रभावित रहे। यह जानकारी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को दी। 

आईएमडी की ओर से जारी वार्षिक जलवायु बयान के अनुसार देश में पिछले सात तूफान और बिजली गिरने की घटनाओं में 787 लोगों की मौत हुई। वहीं, 759 लोगों की जान भारी बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में गई। चक्रवाती तूफानों ने 172 लोगों की जान ली जबकि 32 अन्य लोगों की मौत अन्य चरम मौसमी घटनाओं के चलते हुई।

महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ ने ली 215 लोगों की जान
महाराष्ट्र में भारी बारिश व बाढ़ के चलते 215, उत्तराखंड में 143, हिमाचल प्रदेश में 55, केरल में 53 और आंध्र प्रदेश में 46 लोगों की मौत हुई। तूफान और आकाशीय बिजली के चलते ओडिशा में 213, मध्यप्रदेश में 156, बिहार में 89, महाराष्ट्र में 76, पश्चिम बंगाल में 58, झारखंड में 54, उत्तर प्रदेश में 49 व राजस्थान में 48 लोगों की जान गई।

रिपोर्ट के अनुसार ओडिशा में चरम मौसमी घटनाओं के चलते 223, मध्यप्रदेश में 191, उत्तराखंड में 147, बिहार में 102, उत्तर प्रदेश में 98, गुजरात में 92 और पश्चिम बंगाल में 86 लोगों की मौत हुई। केरल में 67, राजस्थान में 62, हिमाचल में 59, झारखंड में 57, आंध्र प्रदेश में 50, कर्नाटक में 45 और तमिलनाडु में 34 लोगों की मौत हो गई।

इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 32, तेलंगाना में 25 और असम में 14 लोगों की मौत हुई है। आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में चरम मौसमी घटनाओं की वजह से सात लोगों की मौत होने की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से सात लोगों की मौत भारी बारिश और बाढ़ की वजह से हुई है।

विस्तार

भीषण मौसमी घटनाओं के चलते साल 2021 में 1750 लोगों की मौत हुई। देश में महाराष्ट्र ऐसी घटनाओं से सबसे ज्यादा प्रभावित रहा जहां 350 लोगों की इस कारण से जान गई। महाराष्ट्र के बाद ओडिशा और मध्यप्रदेश इन घटनाओं से सबसे ज्यादा प्रभावित रहे। यह जानकारी भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शुक्रवार को दी। 

आईएमडी की ओर से जारी वार्षिक जलवायु बयान के अनुसार देश में पिछले सात तूफान और बिजली गिरने की घटनाओं में 787 लोगों की मौत हुई। वहीं, 759 लोगों की जान भारी बारिश और बाढ़ से संबंधित घटनाओं में गई। चक्रवाती तूफानों ने 172 लोगों की जान ली जबकि 32 अन्य लोगों की मौत अन्य चरम मौसमी घटनाओं के चलते हुई।

महाराष्ट्र में बारिश और बाढ़ ने ली 215 लोगों की जान

महाराष्ट्र में भारी बारिश व बाढ़ के चलते 215, उत्तराखंड में 143, हिमाचल प्रदेश में 55, केरल में 53 और आंध्र प्रदेश में 46 लोगों की मौत हुई। तूफान और आकाशीय बिजली के चलते ओडिशा में 213, मध्यप्रदेश में 156, बिहार में 89, महाराष्ट्र में 76, पश्चिम बंगाल में 58, झारखंड में 54, उत्तर प्रदेश में 49 व राजस्थान में 48 लोगों की जान गई।

रिपोर्ट के अनुसार ओडिशा में चरम मौसमी घटनाओं के चलते 223, मध्यप्रदेश में 191, उत्तराखंड में 147, बिहार में 102, उत्तर प्रदेश में 98, गुजरात में 92 और पश्चिम बंगाल में 86 लोगों की मौत हुई। केरल में 67, राजस्थान में 62, हिमाचल में 59, झारखंड में 57, आंध्र प्रदेश में 50, कर्नाटक में 45 और तमिलनाडु में 34 लोगों की मौत हो गई।

इसके अलावा केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में 32, तेलंगाना में 25 और असम में 14 लोगों की मौत हुई है। आईएमडी के आंकड़ों के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में चरम मौसमी घटनाओं की वजह से सात लोगों की मौत होने की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक इनमें से सात लोगों की मौत भारी बारिश और बाढ़ की वजह से हुई है।

Related posts:

Conversion of religion is not a ground for getting inter caste marriage certificate Madras High Cour...
New Education Policy: Separate Curriculum Will Be Prepared For Adult Education - नई शिक्षा नीति: प्र...
Inside story of kashi vishwanath corridor read how cm yogi adityanath completes dream project throug...
National Family Health Survey: Sex Ratio In Indore District Was 996, A Jump Of 147 Points.. In 2015-...
New Year 2022 welcome party jams spreading fiercely in Jharkhand 45 crores liquor sell estimated brv...
Ctet 2021 Admit Card Will Be Issued-safalta - Ctet 2021: पहली बार ऑनलाइन मोड में होने जा रही है परीक...
Shah Rukh Khan Egyptian fan help indian professonr in the name king khan know details - शाहरुख खान क...
Delhiites Fined One Crore Ruoees On January 1 For Not Following Corona Rules - दिल्ली नहीं हो रही गं...
Youtube Twitter handles blocked by IT Ministry Social Media news
Pm Modi Dehradun Visit Today: Prime Minister Narendra Modi Rally And Public Meeting Live Update - Pm...
Centre Issues Faqs On Omicron, Says No Evidence To Suggest Existing Vaccines Don't Work On It - Omic...
Delhi temperature is between 3 4 degrees imd inform about cold wave end
O.P. Nayyar Birth Anniversary lata Mangeshkar never work together
Two friends killed a youth in yamunanagar hrrm
Shane Warne praises virat kohli said he is a good leader inspired his teammates
Non alcoholic and non vegeterian policemen will not be deployed in prayagraj magh mela makar sankran...

Leave a Comment