Makar Sankranti 2022 is celebrated in different ways in different states of India know its method pur

Makar Sankranti 2022: मकर संक्रांति का त्योहार हिंदू धर्म में विशेष महत्व रखता है. इस साल ये पर्व देशभर में कल मनाया जाएगा. पौराणिक मान्यताओं के अनुसार इस पर्व को नए फल और नए ऋतु के आगमन के लिए मनाया जाता है. जब सूर्य देव मकर राशि पर प्रवेश करते हैं तब मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है. इस दिन लाखों श्रद्धालु गंगा और अन्य पावन नदियों के तट पर स्नान और दान, धर्म करते हैं. हिंदू धार्मिक मान्यतों के अनुसार मकर संक्रांति के दिन भगवान विष्णु ने पृथ्वी लोक पर असुरों का वध कर उनके सिरों को काटकर मंदरा पर्वत पर गाड़ दिया था. तभी से भगवान विष्णु की इस जीत को मकर संक्रांति पर्व के तौर पर मनाया जाने लगा. वहीं माना जाता है कि भगवान श्री कृष्ण ने कहा था कि जो मनुष्य इस दिन अपने देह को त्याग देता है तो उसे मोक्ष की प्राप्ती होती है. यूं तो सारे पर्व पूरे देश में मनाए जाते हैं लेकिन मकर संक्रांति की बात ही अलग है. ये अलग-अलग राज्‍यों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है. इस बार अगर आप भी किसी और जगह की मकर संक्रां‍ति का हिस्‍सा बनना चाहते हैं, तो आइए जानते हैं कि कहां और कैसे मनाते हैं मकर संक्रांति.

उत्तर प्रदेश
उत्‍तर प्रदेश में मकर संक्रांति पर्व को ‘दान का पर्व’ कहा जाता है. मान्‍यता है कि मकर संक्रांति से पृथ्‍वी पर अच्‍छे दिनों की शुरुआत होती है और शुभकार्य किए जा सकते हैं. संक्रांति के दिन स्‍नान के बाद दान देने की परंपरा है. गंगा घाटों पर मेलों का भी आयोजन होता है. पूरे प्रदेश में इसे खिचड़ी पर्व के नाम से जानते हैं. प्रदेश में इस दिन हर जगह आसमान पर रंग-बिरंगी पतंगें लहराती हुई नजर आती हैं.

इसे भी पढ़ेंः Makar Sankranti 2022 Wishes: दूर रहने वाले अपनों के साथ डिजिटली मनाएं मकर संक्रांति, भेजें ये खास मैसेजेस

पंजाब और हरियाणा
पंजाब और हरियाणा में इसे 14 जनवरी से एक दिन पूर्व मनाते हैं. वहां इस पर्व को ‘लोहिड़ी’ के रूप में जाना जाता है. इस दिन अग्निदेव की पूजा करते हुए तिल, गुड़, चावल और भुने मक्‍के की उसमें आहुत‍ि दी जाती है. यह पर्व नई दुल्‍हनों और नवजात बच्‍चों के लिए बेहद खास होता है. सभी एक-दूसरे को तिल की बनीं मिठाइयां खिलाते हैं और लोहिड़ी लोकगीत गाते हैं.

पश्चिम बंगाल
पश्चिम बंगाल में इस पर्व पर गंगासागर पर बहुत बड़े मेले का आयोजन होता है. यहां इस पर्व के दिन स्‍नान करने के बाद तिल दान करने की प्रथा है. कहा जाता है कि इसी दिन यशोदा जी ने श्रीकृष्‍ण की प्राप्ति के लिए व्रत रखा था. साथ ही इसी दिन मां गंगा भगीरथ के पीछे चलकर कपिल मुनि के आश्रम से होते हुए गंगा सागर में जा मिली थीं. यही वजह है कि हर साल मकर संक्रांति के दिन गंगा सागर में भारी भीड़ होती है.

बिहार
बिहार में भी मकर संक्रांति को खिचड़ी पर्व के ही नाम से ही जानते हैं. यहां उड़द की दाल, चावल, तिल, खटाई और ऊनी वस्‍त्र दान करने की परंपरा है.

असम
असम में इसे ‘माघ-बिहू’ और ‘भोगाली-बिहू’ के नाम से जानते हैं. वहीं तमिलनाडू में तो इस पर्व को चार दिनों तक मनाते हैं. यहां पहला दिन भोगी-पोंगल, दूसरा दिन सूर्य- पोंगल, तीसरा दिन मट्टू-पोंगल और चौथा दिन ‘कन्‍या-पोंगल के रूप में मनाते हैं. यहां दिनों के मुताबिक पूजा-अर्चना की जाती है.

यह भी पढ़ें: मकर संक्रांति पर बदलेगी इन राशिवालों की किस्मत, जानें यहां

राजस्थान
राजस्‍थान में इस दिन बहुएं अपनी सास को मिठाइयां और फल देकर उनसे आर्शीवाद लेती हैं. इसके अलावा वहां किसी भी सौभाग्‍य की वस्‍तु को 14 की संख्‍या में दान करने का अलग ही महत्‍व बताया गया है.

महाराष्ट्र
महाराष्‍ट्र में इस दिन गूल नामक हलवे को बांटने की प्रथा है. साथ ही लोग जरूरतमंदों को दान भी देते हैं. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य जानकारी पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)

Tags: Lifestyle, Makar Sankranti

Related posts:

EOW filed FIR against SDM Vidisha Shobhit Tripathi EOW filed FIR against SDM Vidisha Shobhit Tripath...
Types of chilli worlds hottest pepper in india bhut jolokia
BJP candidate Kapil Dev Aggarwal Vaccine statement akhilesh Yadav Yogi Sarkar UP Chunav 2022 Muzaffa...
Over 1,700 old vehicles seized to check vehicular pollution in Delhi | अब प्रदूषण से मिलेगी राहत! 15...
Weather updates rainfall over northwest and central india snowfall
Fuel Price Update Today: Petrol diesel price on 02 December 2021 | दिल्ली सरकार ने कम किए पेट्रोल के...
Uttarakhand Election 2022: Rahul Gandhi May Come Dehradun For Rally After Pm Modi Public Meeting - उ...
Haridwar News: All India Akhara Parishad Welcomes Chief Minister Dhami, Give Blessing For Dissolutio...
Gallantry Awards For Armed Forces And Personnel Annouced Olympic Gold Medalist Neeraj Chopra To Get ...
Celebrating in saifai after akhilesh yadav and shivpal yadav alliance before up chunav upns
Case registered against Sukhbir's brother-in-law in drugs case | ड्रग्स मामले में सुखबीर के साले पर ...
TV Actress Urmila Sharma alleges husband of attrocities Saharanpur Police registered complain
Haryana cabinet expand Dushyant Chautala said Both the new ministers will get the portfolio today hr...
IIP grows 1 4 percent in November shows Government data nodvkj
Uk only female bricklayers shares hot photos online trolled by men sankri
Order Of Himachal Finance Department: Responsibility Of Fixing Revised Pay Scale On Ddos Of Departme...

Leave a Comment