Mobile Addiction Again Took A Life: 11 Year Old Boy Who Was Addicted To Playing Free Fire Game Hanged – मोबाइल की लत ने फिर ली एक जान: फ्री फायर गेम खेलने के आदी हो चुके 11 साल के बच्चे ने लगाई फांसी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल
Published by: दिनेश शर्मा
Updated Thu, 13 Jan 2022 06:10 PM IST

सार

भोपाल के बजरिया थाना क्षेत्र में 11 साल के बालक के फांसी लगाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्चे को मोबाइल पर गेम खेलने की आदत थी। एसीपी सचिन अतुलकर ने शुरुआती जांच में गेम के चलते बच्चे की आत्महत्या की बात कही है।  

11 साल के बालक ने फांसी लगा ली।

11 साल के बालक ने फांसी लगा ली।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

विस्तार

भोपाल के बजरिया थाना क्षेत्र में 11 साल के बालक के फांसी लगाने का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि बच्चे को मोबाइल पर गेम खेलने की आदत थी। एसीपी ने शुरुआती जांच में गेम के चलते बच्चे की आत्महत्या की बात कही है।  

जानकारी के अनुसार भोपाल के बजरिया थाना क्षेत्र के शंकराचार्य नगर में रहने वाले 11 वर्षीय सूर्यांश ओझा ने घर में फांसी लगा ली थी। पांचवीं कक्षा का छात्र सूर्यांश फ्री फायर गेम खेलने का आदी हो गया था। वह दादा के मोबाइल में फ्री फायर गेम खेलता था। इससे नाराज होकर कई बार परिवार वाले उसे फटकार भी लगा चुके थे। पुलिस को मौके पर कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस जांच में गेम की लत की बात कही जा रही है। बताया जा रहा है कि परिजनों की नाराजगी के कारण सूर्यांश छुपकर गेम खेलता था।

एडिशनल CP सचिन अतुलकर ने कहा पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि गेम के चलते बच्चे ने आत्महत्या की है। जांच में सामने आया है की बच्चा गेम खेलने का आदी था। माता-पिता की बिना जानकारी के बच्चे ने गेम में एडऑन खरीदने के लिए 6 हज़ार रुपये खर्च किए थे। पेरेंटस ने कई बार गेम नहीं खेलने को लेकर समझाया था और गेम डिलीट किया था। बच्चे को पढ़ाई में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं था। अधिकतर समय गेम खेलता रहता था। बच्चे ने पंचिंग बेग की रस्सी से फंदा बनाकर सुसाइड की है। मामले में जांच की जा रही है। अगर अभिभावक पुलिस के पास आयेंगे तो पुलिस काउंसिल कराएगी।

ऑनलाइन गेम्स पर लगाम कसने की तैयारी

प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि फ्री फायर सहित अन्य ऑनलाइन गेमिंग से हो रही बच्चों की आत्महत्या जैसी घटनाओं को देखते हुए मध्य प्रदेश सरकार जल्द ही आनलाइन गेमिंग नियंत्रण कानून लागू करने जा रही है। इसका प्रारूप तैयार कर लिया गया है। इसे विधानसभा के फरवरी-मार्च 2022 में प्रस्तावित बजट सत्र में प्रस्तुत किया जाएगा। क़ानून अमल में आने पर ऑनलाइन गेमिंग संचालित करने वाली कंपनियों पर शिकंजा कसा जा सकेगा।

 

Related posts:

Foreign model performs sizzling dance on Dubai streets on Khushboo Tiwari new song bhojpuri South mo...
Shivpuri: Panchayat Secretaries Withdrew Money During Model Code Of Conduct, 11 Panchayat Secretarie...
Sarkari Naukri-sarkari Result 2022 Live Latest Govt Jobs Alert Notifications 11 January Jobs In Up R...
पीकेएल में आज 2 मुकाबले, पटना पाइरेट्स के सामने तमिल थलाइवाज की चुनौती, जानें कहां और कब देखें – New...
Omicron Variant Live Updates And Hindi News Corona Covid19 Booster Dose - Omicron Live: ब्रिटेन में ...
Pm modi is coming to varanasi for kashi vishwnath dham he will stay three days in the city
Punjab government gave jobs to the families of 11 farmers who lost their lives during the farmer mov...
Delhi: Fifty Five People Found Corona Infected In A Day, Seventy Three Patients Recovered - दिल्ली: ...
Chicken thigh fry recipe non veg snacks mt
India of dec 2021 is very different from india of march 2021 top virologist on omicron threat
Raymond promoted JK Files & Engineering files IPO paper to raise Rs 800 crore nodvkj
Centre New Coronavirus Treatment Norms Molnupiravir Out Approve Remdesivir With Riders
Khesari lal yadav Pawan Singh Controversy here is full statement Raya - khesari lal और Pawan Singh क...
Obscene gestures FIR lodged against youth who made obscene act to woman mpsg
The Target Of Applying Both The Doses Of Covid Vaccine In Himachal Completed, But The Destination Is...
Child Birth In Sn Medical College Covid Ward During Corona Virus - आगरा: कोरोना के बढ़ते संक्रमण के ...

Leave a Comment