Non Covid Patients Again In Trouble Dialysis Difficult For Kidney Patients In Delhi – एम्स में लगी रोक: गैर कोविड मरीजों की फिर आई आफत, किडनी रोगियों के लिए डायलिसिस मुश्किल

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: Vikas Kumar
Updated Tue, 11 Jan 2022 01:23 AM IST

सार

नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डायलिसिस पर रोक लगी है। यहां मरीजों के लिए विभाग के बाहर ही एक जानकारी चस्पा कर दी गई है जिसमें 11 अस्पतालों के नाम साझा करते हुए सलाह दी है कि मरीज एम्स के बाहर यहां सेवा प्राप्त कर सकते हैं।

ख़बर सुनें

कोरोना संक्रमण की नई लहर ने एक बार फिर से गैर कोविड मरीजों को मुश्किलों में डाल दिया है। इनदिनों दिल्ली के ज्यादातर अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। वहीं गैर कोविड मरीजों के लिए यहां चिकित्सीय सेवाओं पर भी असर पड़ा है। ऐसे में सबसे अधिक परेशानी किडनी रोगियों के लिए हो रही है जिन्हें हर महीने डायलिसिस लेना पड़ता है। 

नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डायलिसिस पर रोक लगी है। यहां मरीजों के लिए विभाग के बाहर ही एक जानकारी चस्पा कर दी गई है जिसमें 11 अस्पतालों के नाम साझा करते हुए सलाह दी है कि मरीज एम्स के बाहर यहां सेवा प्राप्त कर सकते हैं। इनमें केवल दो ही जगहों पर निशुल्क डायलिसिस की सुविधा मिलती है। ऐसे में एम्स आने वाले गरीब मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि बीते दो साल से यहां काफी बुरे हालात हैं। जब भी कोई लहर आती है प्रबंधन स्वास्थ्य सेवाओं को शट डाउन करना शुरू कर देता है। फिर चाहे वह ट्रामा सेंटर पर असर हो या फिर अन्य विभागों के रोगियों पर। उन्होंने कहा कि एम्स में अब तक कोविड मामलों को लेकर एक निश्चित ठिकाना अब तक नहीं बन पाया है। नई लहर के नाम पर मरीजों की भर्ती रोक दी है। ओपीडी में भी नियम शर्ते लागू कर दी गई हैं। ऐसे में अगर मरीज इलाज के लिए कहां जाएगा? एम्स के ही पास सफदरजंग अस्पताल में भी डायलिसिस को लेकर जब जानकारी मांगी गई तो पता चला कि यहां पहले की तरह सेवाएं जारी हैं। चूंकि इनके पास सीमित संसाधन हैं इसलिए नियमित तौर पर यहां डायलिसिस किया जा रहा है। 

विस्तार

कोरोना संक्रमण की नई लहर ने एक बार फिर से गैर कोविड मरीजों को मुश्किलों में डाल दिया है। इनदिनों दिल्ली के ज्यादातर अस्पतालों में स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना संक्रमण की चपेट में हैं। वहीं गैर कोविड मरीजों के लिए यहां चिकित्सीय सेवाओं पर भी असर पड़ा है। ऐसे में सबसे अधिक परेशानी किडनी रोगियों के लिए हो रही है जिन्हें हर महीने डायलिसिस लेना पड़ता है। 

नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में डायलिसिस पर रोक लगी है। यहां मरीजों के लिए विभाग के बाहर ही एक जानकारी चस्पा कर दी गई है जिसमें 11 अस्पतालों के नाम साझा करते हुए सलाह दी है कि मरीज एम्स के बाहर यहां सेवा प्राप्त कर सकते हैं। इनमें केवल दो ही जगहों पर निशुल्क डायलिसिस की सुविधा मिलती है। ऐसे में एम्स आने वाले गरीब मरीजों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

एम्स के एक वरिष्ठ डॉक्टर ने बताया कि बीते दो साल से यहां काफी बुरे हालात हैं। जब भी कोई लहर आती है प्रबंधन स्वास्थ्य सेवाओं को शट डाउन करना शुरू कर देता है। फिर चाहे वह ट्रामा सेंटर पर असर हो या फिर अन्य विभागों के रोगियों पर। उन्होंने कहा कि एम्स में अब तक कोविड मामलों को लेकर एक निश्चित ठिकाना अब तक नहीं बन पाया है। नई लहर के नाम पर मरीजों की भर्ती रोक दी है। ओपीडी में भी नियम शर्ते लागू कर दी गई हैं। ऐसे में अगर मरीज इलाज के लिए कहां जाएगा? एम्स के ही पास सफदरजंग अस्पताल में भी डायलिसिस को लेकर जब जानकारी मांगी गई तो पता चला कि यहां पहले की तरह सेवाएं जारी हैं। चूंकि इनके पास सीमित संसाधन हैं इसलिए नियमित तौर पर यहां डायलिसिस किया जा रहा है। 

Related posts:

Fake call centers busted in Delhi and Noida 28 people arrested NODBK
Pm Narendra Modi Will Lay Foundation Of Projects Worth 11.50 Thousand Crore In Mandi - सीएम जयराम बो...
Uppsc Pcs Main Exam 2021 Date Released By Uttar Pradesh Public Service Commission Sarkari Nuakri Pap...
'सीसीआई को अमेज़न के बयान, अदालतें विरोधाभासी'
Car Burnt To Ashes In Subathu, Another Vehicle Also Caught Fire - हादसा: अचानक आग लगने से सुबाथू में...
Patnee chaahie ke postar to contest the elections To contest elections a man put up strange poster p...
Katrina kaif phone bhoot and ranveer singh cirkus releasing on same date an
क्या है वो गुप्त तत्व जिसे ऑक्सफोर्ड के वैज्ञानिकों ने जीवन के लिए बताया जरूरी
Farmers Unions Block Railway Track In Punjab For Their Demands - अब पंजाब में भड़के अन्नदाता: कांग्र...
मनी लॉड्रिंग: सुकेश चंद्रशेखर ने किया बड़ा खुलासा, कहा- जैकलीन फर्नांडीज को उपहार में दिया 52 लाख का...
Uk assembly elections harish rawat said good have ambition congress leaders harak singh my brother n...
Union Minister Mahendra Nath Pandey Also Corona Infected - कोरोना का कहर: केंद्रीय मंत्री महेंद्र ना...
Office head and other office people beat lover as hi doing wrong activity in office premises lucknow...
AAP leader Arvind Kejriwal rally on Monday big announcement nodelsp
HP news 52 year old man Murder in Shimla 2 young boys arrested hpvk
पांच सदस्यों की कमेटी करेगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक मामले की जांच- सुप्रीम कोर्...

Leave a Comment