North Korea Tests Missiles Third Time In Three Months – बढ़ेगा तनाव: उत्तर कोरिया ने इस माह तीसरी बार किया मिसाइल परीक्षण

एजेंसी, सियोल।
Published by: Jeet Kumar
Updated Sat, 15 Jan 2022 01:05 AM IST

सार

उत्तर कोरियाई सरकारी समाचार एजेंसी ने विदेश मंत्रालय के अज्ञात प्रवक्ता के हवाले से कहा कि हमने हाइपरसोनिक मिसाइलों का प्रक्षेपण आत्मरक्षा के लिए किया जो एक उचित अभ्यास था।

सांकेतिक तस्वीर…
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

दक्षिण कोरिया और जापान के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को इस माह में तीसरी बार बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण किया है। समझा जाता है कि अमेरिका के बाइडन प्रशासन ने हाल ही में दो मिसाइल परीक्षणों के बाद उस पर लगाई नई पाबंदियों के जवाब में उत्तर कोरिया ने यह कदम उठाया है। मिसाइल दागने के कुछ घंटे बाद उत्तर कोरिया ने अमेरिका की लगाई नई पाबंदियों की निंदा भी की।

उत्तर कोरिया ने बयान जारी करते हुए आगाह किया कि यदि अमेरिका टकराव वाला रुख बरकरार रखता है तो वह और कठोर कदम उठाएगा। इस बीच, दक्षिण कोरियाई ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने बताया, मिसाइल पूर्व दिशा में दागी गई, हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि मिसाइल कहां जाकर गिरी। उन्होंने मिसाइल के बारे में विस्तार से कोई और जानकारी नहीं दी।

जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय और रक्षा मंत्रालय ने भी कहा कि उन्हें उत्तर कोरिया के इस परीक्षण का पता चला और वह निश्चित रूप से एक बैलिस्टिक मिसाइल है। जापान के तट रक्षक ने एक सुरक्षा परामर्श जारी करते हुए कहा कि एक वस्तु संभवत: गिरी थी। तट रक्षक ने कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के साथ-साथ पूर्वी चीन सागर और उत्तर प्रशांत के बीच मौजूद जहाजों से आग्रह किया है कि वे आगे दी जाने वाली जानकारी पर नजर बनाए रखें।

नए अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद उत्तर कोरिया ने दी कार्रवाई की चेतावनी
उत्तर कोरिया ने उसके परीक्षणों को लेकर देश पर नए प्रतिबंध लगाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन पर निशाना साधा और चेताया कि यदि अमेरिका अपने टकराव वाले रुख पर कायम रहता है तो उसके खिलाफ कड़ी व स्पष्ट कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर कोरियाई सरकारी समाचार एजेंसी ने विदेश मंत्रालय के अज्ञात प्रवक्ता के हवाले से कहा कि हमने हाइपरसोनिक मिसाइलों का प्रक्षेपण आत्मरक्षा के लिए किया जो एक उचित अभ्यास था।

प्रवक्ता ने कहा, नए प्रतिबंध अमेरिका के शत्रुतापूर्ण इरादे को रेखांकित करते हैं, जिसका मकसद उत्तर कोरिया को अलग-थलग करना व दबाव बनाना है।

विस्तार

दक्षिण कोरिया और जापान के अधिकारियों ने कहा कि उत्तर कोरिया ने शुक्रवार को इस माह में तीसरी बार बैलिस्टिक मिसाइल परीक्षण किया है। समझा जाता है कि अमेरिका के बाइडन प्रशासन ने हाल ही में दो मिसाइल परीक्षणों के बाद उस पर लगाई नई पाबंदियों के जवाब में उत्तर कोरिया ने यह कदम उठाया है। मिसाइल दागने के कुछ घंटे बाद उत्तर कोरिया ने अमेरिका की लगाई नई पाबंदियों की निंदा भी की।

उत्तर कोरिया ने बयान जारी करते हुए आगाह किया कि यदि अमेरिका टकराव वाला रुख बरकरार रखता है तो वह और कठोर कदम उठाएगा। इस बीच, दक्षिण कोरियाई ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ ने बताया, मिसाइल पूर्व दिशा में दागी गई, हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि मिसाइल कहां जाकर गिरी। उन्होंने मिसाइल के बारे में विस्तार से कोई और जानकारी नहीं दी।

जापान के प्रधानमंत्री कार्यालय और रक्षा मंत्रालय ने भी कहा कि उन्हें उत्तर कोरिया के इस परीक्षण का पता चला और वह निश्चित रूप से एक बैलिस्टिक मिसाइल है। जापान के तट रक्षक ने एक सुरक्षा परामर्श जारी करते हुए कहा कि एक वस्तु संभवत: गिरी थी। तट रक्षक ने कोरियाई प्रायद्वीप और जापान के साथ-साथ पूर्वी चीन सागर और उत्तर प्रशांत के बीच मौजूद जहाजों से आग्रह किया है कि वे आगे दी जाने वाली जानकारी पर नजर बनाए रखें।

नए अमेरिकी प्रतिबंधों के बाद उत्तर कोरिया ने दी कार्रवाई की चेतावनी

उत्तर कोरिया ने उसके परीक्षणों को लेकर देश पर नए प्रतिबंध लगाने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन के प्रशासन पर निशाना साधा और चेताया कि यदि अमेरिका अपने टकराव वाले रुख पर कायम रहता है तो उसके खिलाफ कड़ी व स्पष्ट कार्रवाई की जाएगी।

उत्तर कोरियाई सरकारी समाचार एजेंसी ने विदेश मंत्रालय के अज्ञात प्रवक्ता के हवाले से कहा कि हमने हाइपरसोनिक मिसाइलों का प्रक्षेपण आत्मरक्षा के लिए किया जो एक उचित अभ्यास था।

प्रवक्ता ने कहा, नए प्रतिबंध अमेरिका के शत्रुतापूर्ण इरादे को रेखांकित करते हैं, जिसका मकसद उत्तर कोरिया को अलग-थलग करना व दबाव बनाना है।

Related posts:

Couple swap home for tent to save their money for good house pratp
Suspected Terrorist Of Isis Urges For Hearing In Jj Board - आईएसआईएस के संदिग्ध आतंकी ने जेजे बोर्ड ...
Madhya Pradesh: Gwalior Resonated With The Ghosh Of The Sangh, More Than 550 Ghosh Players From 31 D...
Chirag paswan attacked cm nitish kumar over demand of special status given to bihar nodmk8 - Bihar: ...
New Year Celebrations in Shimla police offers special treatment for corona and miscreants on new yea...
आलिया भट्ट अभिनीत संजय लीला भंसाली की 'गंगूबाई काठियावाड़ी' में फिर देरी हुई; 18 फरवरी को रिलीज होग...
Up Election 2022: Will Akhilesh Yadav Also Contest The Assembly Elections? Read How The Chief Of The...
Indian Wrestler Babita Kumari Phogat Slams Akhilesh And Congress Priyanka Gandhi Up News - प्रियंका ...
Uttarakhand Assembly Winter Session 2021: Winter Session Will Start From Thursday - उत्तराखंड विधानस...
Cheating In Dewas: Jewelery Became Expensive Due To The Talk Of Thugs, A Woman Lost Her Hands With G...
Allahabad High Court Bar Association Elections The Sanjay Somvanshi For The Post Of Joint Secretary ...
Up Election 2022 Bjp Committee Will Win Trust Of Brahmins For Victory In Assembly Elections - Exclus...
Kulgam Encounter: Body Of Martyr Rohit Chib Reached Jammu, Demanding The Elimination Of Terrorists -...
Madhya Pradesh: Avinash Tiwari Appointed As The Vice Chancellor Of Jiwaji University, Gwalior - मध्य...
Delhi Kathmandu bus service started from tomorrow was closed due to Corona
Up Police Constable Recruitment 2022: There Will Be So Many Posts Of Female Constable In 25,000 Cons...

Leave a Comment