Psychological tricks when angry or sad follow these tips told by experts instead of backbiting nav

Psychological tricks: जरा किसी से किसी बात पर कहासुनी हो गई, या किसी की कोई बात गलत लग गई, हम तुरंत उसे दूसरे से कह देते हैं. या फिर दूसरे से उस शख्स की बुराई करना शुरू कर देते हैं. इतना ही नहीं कई बार तो तीसरे व्यक्ति को ये भी बता देते हैं कि किसी शख्स ने उसके बारे में क्या कहा है. साधारण भाषा में इसे चुगली यानी बैकबिटिंग (Backbiting) कहते हैं. चुगली हमारी रोजमर्रा की बातचीत का हिस्सा है, लेकिन हमारे समाज में इसे अच्छा नहीं माना जाता. दैनिक भास्कर अखबार की न्यूज रिपोर्ट में क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट (Clinical Psychologist) डॉ प्रज्ञा मलिक (Dr Pragya Malik) का कहना है कि चुगली को सोसाइटी में भले ही एक अच्छी आदत नहीं माना जाता है, लेकिन साइकोलॉजिकली (psychologically) इसका असर हमारे ब्रेन और बॉडी पर पड़ता है. जब भी कोई व्यक्ति किसी बात से नाराज होता है, या लो फील करता है, चिंता में होता है या दुखी होता है तब वह चुगली करता है. इसे नेगेटिव डिफेंसिव बिहेवियर (negative defensive behavior) कहा जाता है.

अपनी परेशानी को चुगली के जरिए बाहर निकालकर खुद को खुश करने का सबसे आसान तरीका माना जाता है. इसे लर्निंग बिहेवियर कहा जाता है, जिसे हम बचपन से अपने आसपास से सीखते आते हैं. डॉ प्रज्ञा का कहना है कि जब व्यक्ति अपने गुस्से और इमोशन को कंट्रोल नहीं कर पाता तब चुगली करता है. अब सवाल उठता है कि लोग चुगली क्यों करते हैं और इससे उन्हें क्या फायदा मिलता है? इसके कुछ कारण हैं, उन्हें समझना जरूरी है.

यह भी पढ़ें-
वैज्ञानिकों ने ढूंढ निकाला घातक ब्लड कैंसर के इलाज का नया तरीका- स्टडी

रिलैक्स महसूस होता है
अमूमन देखा गया है कि कोई व्यक्ति जब किसी से नाराज होता है, तो तुरंत किसी दूसरे से उसकी चुगली करता है. इससे व्यक्ति को ये महसूस होता है कि कोई हमें समझ रहा है. कोई हमारी सुन रहा है, जिससे उसे रिलैक्स फील होता है.

यह भी पढ़ें-
ब्रेन कैसे लेता है कोई निर्णय, वैज्ञानिकों ने खोजा प्रोसेस: स्टडी

क्या है सॉल्यूशन
डॉ प्रज्ञा का कहना है कि चुगली करना कुछ समय के लिए आपको लाभ दे सकता है, लेकिन लंबे समय तक अगर आप इस आदत को साथ लेकर चले रहे हैं, तो ये आपको नेगेटिव इंसान बना देती है. इसलिए जरूरी है कि कोई भी बात किसी के बारे में कहने से पहले उस बात को जांच परख लें. खुद के लिए भी टाइम निकालें, ताकि आप खुद को अच्छा महसूस करा पाएं. अपनी परेशानियों को पेपर पर लिखें. ब्रिदिंग एक्सरसाइज (breathing exercises) से मन को शांत करें. ये वे तरीके हो सकते हैं जो चुगली की जगह हेल्दी विकल्प बन सकते हैं.

Tags: Lifestyle

Related posts:

Misconduct With Girl In Akashvani Bhawan Delhi Premises - दिल्ली : आकाशवाणी भवन परिसर में युवती से द...
Covid 19 3rd wave in india case rises in mumbai and delhi
Haryana's 100 Year Old Rambai Ran With Three Generations, Took Part In Long Jump In Varanasi - खेल क...
Top 10 Sports News brian lara join sunrisers hyderabad as coach patna pirates dabang delhi pro kabad...
Three Died Including Couple In Two Road Accidents In Himachal, 15 Injured, One Missing - शिमला: दो स...
Allu arjun amd rashmika mandanna starrer pushpa the rise now streaming on ott bhojpuri south mogi - ...
Iit Prof. Manindra Claims Vaccine Immunity Is Not Effective In Stopping Omicron - आईआईटी के प्रो. मण...
Malavika will spoil Anupamaa chemistry with Anuj know full story an
Good news RBI extends deadline for KYC update by three months check details samp
As Pm Narendra Modi Announces Precaution Dose Booster For 60 Plus Know What Comorbodities Document R...
Madhya Pradesh: Campaign To Change Name Continues, Shivraj Announced - Minto Hall Will Be Named Afte...
Fir registered against lalu yadav elder son tej pratap yadav bihar assembly election 2020 jdu rjd no...
Vehicle stopped in 8 colonies dayalbagh pollution only foot cycle battery rickshaw allowed nodelsp
Madhya Pradesh News: Discovery of bright precious stones lures villagers towards illegal finding in ...
Car review Hyundai Alcazar New variants now 7 seater option will be available check details achs
Box Office Collection: सूर्यवंशी और पुष्पा को टक्कर नहीं दे पाई रणवीर की 83, 'स्पाइडर मैन' ने मारी ब...

Leave a Comment