Republic Day Parade To See 24,000 People Permitted Amid Covid-19 Omicron Variant – गणतंत्र दिवस: 26 जनवरी की परेड में शामिल हो सकेंगे 24 हजार लोग, इस बार भी नहीं होगा कोई विदेशी मेहमान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव
Updated Sat, 15 Jan 2022 12:39 PM IST

सार

पिछले साल हुई गणतंत्र दिवस परेड में 25 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी। जबकि 2022 में कोरोना वायरस से पहले 1.25 लोगों की अनुमति थी। 

ख़बर सुनें

कोरोना के नए वैरिंएट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच होने जा रही गणतंत्र दिवस परेड में इस बार 24 हजार लोग ही शामिल हो सकेंगे। न्यूज एजेंसी पीटीआई ने रक्षा सूत्रों के हवाले से यह दावा किया है। वहीं पिछले साल गणतंत्र दिवस की परेड में 25 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी। जबकि, 2020 में कोरोना महामारी से पहले हुई परेड में 1.25 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। 

नहीं होगा कोई विदेशी मेहमान
गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में विदेशी मेहमानों को निमंत्रण देने की परंपरा है। हालांकि, इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए कोई विदेशी मेहमान इसमें शामिल नहीं होगा। पिछले साल हुई परेड में भी कोई विदेशी नेता शामिल नहीं हुआ था। सूत्रों ने बताया कि इस बार उज्बेकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिज़ गणराज्य और ताजिकिस्तान के नेताओं को आमंत्रित करने की योजना थी। 

19 हजार लोगों को भेजा जाएगा निमंत्रण 
रक्षा सूत्रों का कहना है कि परेड में इस बार 24 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति है, जिसमें 19 हजार लोगों को निमंत्रण भेजा जाएगा। वहीं बाकी पांच हजार आम जनता होगी, जो टिकट खरीदकर परेड शामिल हो सकते हैं। 

विस्तार

कोरोना के नए वैरिंएट ओमिक्रॉन के खतरे के बीच होने जा रही गणतंत्र दिवस परेड में इस बार 24 हजार लोग ही शामिल हो सकेंगे। न्यूज एजेंसी पीटीआई ने रक्षा सूत्रों के हवाले से यह दावा किया है। वहीं पिछले साल गणतंत्र दिवस की परेड में 25 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति दी गई थी। जबकि, 2020 में कोरोना महामारी से पहले हुई परेड में 1.25 लोगों को शामिल होने की अनुमति थी। 

नहीं होगा कोई विदेशी मेहमान

गणतंत्र दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में विदेशी मेहमानों को निमंत्रण देने की परंपरा है। हालांकि, इस बार कोरोना महामारी को देखते हुए कोई विदेशी मेहमान इसमें शामिल नहीं होगा। पिछले साल हुई परेड में भी कोई विदेशी नेता शामिल नहीं हुआ था। सूत्रों ने बताया कि इस बार उज्बेकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, कजाकिस्तान, किर्गिज़ गणराज्य और ताजिकिस्तान के नेताओं को आमंत्रित करने की योजना थी। 

19 हजार लोगों को भेजा जाएगा निमंत्रण 

रक्षा सूत्रों का कहना है कि परेड में इस बार 24 हजार लोगों को शामिल होने की अनुमति है, जिसमें 19 हजार लोगों को निमंत्रण भेजा जाएगा। वहीं बाकी पांच हजार आम जनता होगी, जो टिकट खरीदकर परेड शामिल हो सकते हैं। 

Related posts:

Ujjain: Police Caught Doraemon, Fell While Running And Reached Police, Reward Of 10 Thousand Was Kep...
Shri krishna munger rail road bridge over ganga river inauguration postponed twice know reason bruk
Jammu-kashmir: School Children Will Know The Working Of The Government, Education Department Will Ge...
Audi A4 Premium version launched
Breaking News Rajasthan State Agro Industries Developement board to be constituted to increase farme...
The Posts Of Senior Doctors Should Be Filled In All Medical Colleges Of Up: High Court - यूपी के सभी...
Gautam Adani Becomes Richest Person Of India Leaving Mukesh Ambani Behind News In Hinid - Gautam Ada...
Nia Special Court Convicts 8 Jmb Terrorists For Planting Ieds At Mahabodhi Temple In Bodh Gaya In 20...
Babar azam of Pakistan won the most matches as a captain in international cricket in 2021 virat kohl...
Claiming herself as the daughter in law of the Mughal emperor the Delhi High Court dismissed the pet...
Haryana Former ministers son received death threats from Lawrence gang hrrm
New Year and Christmas party in Mumbai will fade due to Coronavirus
Jharkhand ats arrested from bsf jawan with 14 pistols and 8000 cartridges from punjab jhnj
Jammu-kashmir: Inconvenience Due To Non-availability Of Reservation Ticket Counter At Bari Brahmana,...
Chhattisgarh state government has increased its contribution in the employees' pension scheme, what ...
Coronavirus In Uttarakhand Covid-19 News Today 30 November: 28 Positive Found And No Patient Died - ...

Leave a Comment