Up Election 2022: Hasnuram Ambedkari Will Contest Elections For 94th Time In Agra – एक प्रत्याशी ऐसा भी: जो 100 बार हारने का बनाना चाहता है रिकॉर्ड, 94वें चुनाव के लिए खरीदा पर्चा

हस्नूराम आंबेडकरी
– फोटो : अमर उजाला

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू हो गई। इस बीच दल बदल का दौर भी जारी है। प्रत्याशी जीतने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे हैं, लेकिन आगरा जिले में ऐसा भी एक प्रत्याशी है, जो हारने के लिए चुनाव लड़ता है। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस प्रत्याशी की हसरत भी हारने का शतक बनाने की है। नाम है हस्नूराम आंबेडकरी। 

खेरागढ़ के नगला दूल्हे निवासी 75 साल के हस्नूराम आंबेडकरी 94वीं बार निर्दलीय चुनाव लड़ने के लिए शुक्रवार को कलक्ट्रेट में पर्चा लेने पहुंचे। नामांकन के पहले दिन 37 पर्चे बिके। एक किन्नर, दो महिला और 34 पुरुषों ने पर्चे लिए। इनमें हस्नूराम आंबेडकरी की कहानी अपने आप में अनूठी है। विभिन्न पदों पर 93 बार चुनाव हारने के बाद भी हस्नूराम का हौसला बरकरार है। इसी हौसले के साथ वह एक बार फिर चुनाव मैदान में उतरने की तैयारी कर रहे हैं। 

हस्नूराम आंबेडकरी
– फोटो : अमर उजाला

हस्नूराम आंबेडकरी ने बताया कि वह सन 1985 से अलग-अलग 93 चुनाव लड़ चुके हैं। 100 बार हारने का रिकॉर्ड बनाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि मैंने कभी किसी चुनाव में एक रुपया खर्च नहीं किया। उन्होंने एक बार राष्ट्रपति पद के लिए भी नामांकन किया था, लेकिन पर्चा निरस्त हो गया था।

हस्नूराम आंबेडकरी
– फोटो : अमर उजाला

हस्नूराम ने बताया कि वह तहसील में 1984 में सरकारी अमीन थे। तभी चुनाव लड़ने की इच्छा हुई तो एक पार्टी से टिकट मांगा। टिकट देने की बजाय उन्होंने मेरा मजाक उड़ाया, कहां तुम्हें तो तुम्हारे घर में कोई वोट नहीं देगा। तभी से हस्नूराम को चुनाव लड़ने की धुन सवार हो गई। तब से वह विभिन्न पदों पर 93 बार चुनाव लड़ चुनाव चुके हैं।

कलेक्ट्रेट के गेट पर तैनात पुलिस फोर्स
– फोटो : अमर उजाला

आगरा जिले की नौ सीटों के लिए पहली बार एक ही स्थल कलेक्ट्रेट में पर्चे भरे जा रहे हैं। शुक्रवार सुबह आठ बजे ही कलेक्ट्रेट परिसर में छावनी में तब्दील हो गया। गेट पर भारी पुलिस बल तैनात रहा। प्रत्येक व्यक्ति को जांच के बाद परिसर में प्रवेश मिला। पहले दिन नौ सीटों पर कुल 37 पर्चे बिके हैं। जिनमें 18 निर्दलीय एवं 19 राजनीतिक दलों के लोगों ने लिए हैं। 

राधिका बाई और हस्नूराम ने लिए पर्चे
– फोटो : अमर उजाला

आगरा छावनी क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में किन्नर राधिका बाई ने पर्चा लिया है। दक्षिण सीट से मो. अंसारी ने निर्दलीय के रूप में पर्चा लिया है। हस्नूराम आंबेडकरी ने खेरागढ़ से चुनाव लड़ने के लिए पर्चा खरीदा है। हालांकि पहले दिन किसी प्रत्याशी द्वारा पर्चा नहीं भरने के कारण नामांकन का खाता भी नहीं खुला है।

Related posts:

Babita Phogat Statement on girls hrrm - हरियाणा: बबीता फौगाट का बयान
Ind vs nz test series team india set a target of 284 runs of new zealand shreyas iyer
Omg video viral filmy story like husband allowed her wife to marry her long time lover nodmk8
Vaccination Is Happening Like This In Dewas: Women Who Have Died Months Ago Also Got The Vaccine, Ce...
Azad Said: Politics Is Working Like A Devil, People Are Being Divided Due To This, No One Is Forced ...
Wife Married To Her Lover In Bengaluru Husband Shoot Video - एक कहानी ऐसी भी: पत्नी के प्रेम के आगे ...
Madhya pradesh panchayat chunav 2021 jays Jai Adivasi Yuva Shakti Sangathan to be contest elections ...
Paytm shares shed losses after disappointing start | पेटीएम के शेयरों ने नुकसान को कम किया
Yes Bank Petition Dismissed In Crores Of Share Scam From Allahabad High Court - हाईकोर्ट से झटका : क...
दमन में 'राम सेतु' की शूटिंग करेंगे अक्षय कुमार और जैकलीन फर्नांडीज- एक्सक्लूसिव! | हिंदी फिल्म सम...
Bank unions call for 2 day nationwide bank strike on Dec 16 and 17 check details varpat
Up bjp chief swatantra dev singh asks akhilesh yadav will hi take responsibility of ordering firing ...
Up Election 2022: A Video Viral Of Imran Masood Appeals To Muslims To Support In Saharanpur - वायरल ...
Sony Pictures Networks India and Zee Entertainment's merger approved, the new company will be listed...
Crime In UP: Attempted to murder a girl by giving poison in Kanpur, also attacked with acid
Happiness Turned Into Mourning: The Bride And Groom's Car Returning From Kanpur To Indore Rammed Int...

Leave a Comment