Uttarakhand Elections 2022: Congress Eyeing On Brahmin Voters, Party Observer Mohan Prakash Holds Meeting With Big Leaders Of Brahmin Vote Bank – उत्तराखंड चुनाव: ब्राह्मण मतदाताओं पर कांग्रेस की नजर, मोहन प्रकाश ने समाज के बड़े नेताओं के साथ की बैठक

सार

बहुगुणा परिवार के विजय बहुगुणा और रीता बहुगुणा जोशी के भाजपा में चले जाने के बाद राज्य में कांग्रेस की ब्राह्मण मतदाताओं पर पकड़ कुछ कमजोर हो रही थी। वरिष्ठ ब्राह्मण नेता किशोर उपाध्याय की हरीश रावत से चल रही तनातनी और उनके भाजपा नेताओं के संपर्क में होने की चर्चाओं से भी कांग्रेस की उम्मीदों पर असर पड़ रहा था…

कांग्रेस नेता मोहन प्रकाश
– फोटो : Agency (File Photo)

ख़बर सुनें

उत्तराखंड की सत्ता में मजबूती के साथ वापसी करने की कोशिश कर रही कांग्रेस राज्य के ब्राह्मण मतदाताओं को आकर्षित की भरपूर कोशिश कर रही है। हाल ही में राज्य में पार्टी के वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए ब्राह्मण नेता मोहन प्रकाश को ब्राह्मण समाज को साधने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। नई जिम्मेदारी मिलने के बाद से ही वे लगातार ब्राह्मण समाज के शीर्ष नेताओं से मिलकर उन्हें कांग्रेस के पक्ष में लाने की कोशिश कर रहे हैं। वे कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं से भी मुलाकात कर उन्हें साधने के प्रयास में हैं।

कांग्रेस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड की अहम जिम्मेदारी मिलने के बाद मोहन प्रकाश ने राज्य के वरिष्ठ ब्राह्मण नेताओं के साथ बैठक कर उनके मुद्दों को समझने की कोशिश की है। उन्होंने ब्राह्मण मतदाताओं के बीच केंद्र-राज्य सरकार को लेकर चल रही नाराजगी को समझने की कोशिश भी की है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज की समस्याओं के निदान के लिए विशेष योजना प्रस्तावित करने की योजना पर भी काम चल रहा है। मोहनप्रकाश की अगुवाई में इस पर राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की एक टीम काम कर रही है। चर्चा है कि इन बिंदुओं को उत्तराखंड कांग्रेस की घोषणा पत्र में शामिल किया जा सकता है।

बहुगुणा परिवार के जाने के बाद पकड़ हुई कमजोर

बहुगुणा परिवार के विजय बहुगुणा और रीता बहुगुणा जोशी के भाजपा में चले जाने के बाद राज्य में कांग्रेस की ब्राह्मण मतदाताओं पर पकड़ कुछ कमजोर हो रही थी। वरिष्ठ ब्राह्मण नेता किशोर उपाध्याय की हरीश रावत से चल रही तनातनी और उनके भाजपा नेताओं के संपर्क में होने की चर्चाओं से भी कांग्रेस की उम्मीदों पर असर पड़ रहा था। पार्टी ने इस अहम मौके पर ब्राह्मण नेता मोहन प्रकाश पर भरोसा जताया और उन्हें उत्तराखंड की स्थिति संभालने की जिम्मेदारी दी।

अमर उजाला को मिली जानकारी के अनुसार मोहन प्रकाश उत्तराखंड की जिम्मेदारी मिलने के बाद नाराज ब्राह्मण नेता किशोर उपाध्याय से दो बार बातचीत कर चुके हैं। वे उन्हें पार्टी में उचित सम्मान और जिम्मेदारी दिलाने के वादे पर पार्टी से जोड़े रखने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

दरअसल, उत्तराखंड की भाजपा सरकार ने देवस्थानम बोर्ड गठित कर राज्य के हिंदू संतों, धर्मगुरुओं और ब्राह्मण समुदाय की नाराजगी मोल ले ली थी। ब्राह्मण समुदाय भाजपा नेतृत्व से इस बात के लिए खासा नाराज बताया जा रहा है कि उसने एक बोर्ड के जरिए राज्य के देवालयों पर कब्जा करने की कोशिश की। हिंदू संतों और पुजारियों के कठोर विरोध के बाद देवस्थानम बोर्ड का फैसला वापस तो अवश्य ले लिया गया है, लेकिन इसके बाद भी राज्य के ब्राह्मण मतदाताओं में सरकार के इस फैसले को लेकर नाराजगी बरकरार है।

विस्तार

उत्तराखंड की सत्ता में मजबूती के साथ वापसी करने की कोशिश कर रही कांग्रेस राज्य के ब्राह्मण मतदाताओं को आकर्षित की भरपूर कोशिश कर रही है। हाल ही में राज्य में पार्टी के वरिष्ठ पर्यवेक्षक नियुक्त किए गए ब्राह्मण नेता मोहन प्रकाश को ब्राह्मण समाज को साधने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। नई जिम्मेदारी मिलने के बाद से ही वे लगातार ब्राह्मण समाज के शीर्ष नेताओं से मिलकर उन्हें कांग्रेस के पक्ष में लाने की कोशिश कर रहे हैं। वे कांग्रेस के असंतुष्ट नेताओं से भी मुलाकात कर उन्हें साधने के प्रयास में हैं।

कांग्रेस सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक उत्तराखंड की अहम जिम्मेदारी मिलने के बाद मोहन प्रकाश ने राज्य के वरिष्ठ ब्राह्मण नेताओं के साथ बैठक कर उनके मुद्दों को समझने की कोशिश की है। उन्होंने ब्राह्मण मतदाताओं के बीच केंद्र-राज्य सरकार को लेकर चल रही नाराजगी को समझने की कोशिश भी की है। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने पर ब्राह्मण समाज की समस्याओं के निदान के लिए विशेष योजना प्रस्तावित करने की योजना पर भी काम चल रहा है। मोहनप्रकाश की अगुवाई में इस पर राज्य के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं की एक टीम काम कर रही है। चर्चा है कि इन बिंदुओं को उत्तराखंड कांग्रेस की घोषणा पत्र में शामिल किया जा सकता है।

बहुगुणा परिवार के जाने के बाद पकड़ हुई कमजोर

बहुगुणा परिवार के विजय बहुगुणा और रीता बहुगुणा जोशी के भाजपा में चले जाने के बाद राज्य में कांग्रेस की ब्राह्मण मतदाताओं पर पकड़ कुछ कमजोर हो रही थी। वरिष्ठ ब्राह्मण नेता किशोर उपाध्याय की हरीश रावत से चल रही तनातनी और उनके भाजपा नेताओं के संपर्क में होने की चर्चाओं से भी कांग्रेस की उम्मीदों पर असर पड़ रहा था। पार्टी ने इस अहम मौके पर ब्राह्मण नेता मोहन प्रकाश पर भरोसा जताया और उन्हें उत्तराखंड की स्थिति संभालने की जिम्मेदारी दी।

अमर उजाला को मिली जानकारी के अनुसार मोहन प्रकाश उत्तराखंड की जिम्मेदारी मिलने के बाद नाराज ब्राह्मण नेता किशोर उपाध्याय से दो बार बातचीत कर चुके हैं। वे उन्हें पार्टी में उचित सम्मान और जिम्मेदारी दिलाने के वादे पर पार्टी से जोड़े रखने की रणनीति पर काम कर रहे हैं।

दरअसल, उत्तराखंड की भाजपा सरकार ने देवस्थानम बोर्ड गठित कर राज्य के हिंदू संतों, धर्मगुरुओं और ब्राह्मण समुदाय की नाराजगी मोल ले ली थी। ब्राह्मण समुदाय भाजपा नेतृत्व से इस बात के लिए खासा नाराज बताया जा रहा है कि उसने एक बोर्ड के जरिए राज्य के देवालयों पर कब्जा करने की कोशिश की। हिंदू संतों और पुजारियों के कठोर विरोध के बाद देवस्थानम बोर्ड का फैसला वापस तो अवश्य ले लिया गया है, लेकिन इसके बाद भी राज्य के ब्राह्मण मतदाताओं में सरकार के इस फैसले को लेकर नाराजगी बरकरार है।

Related posts:

Lost 8.50 Lakhs In The Pursuit Of Becoming A Millionaire In Kbc - केबीसी में करोड़पति बनने के चक्कर ...
Kerosene Filled Tanker Overturned On Service Road From Flyover In Firozabad - फिरोजाबाद: फ्लाई ओवर स...
Corona positive 2 NRI children returned to America from Rajasthan Omicron Variant rjsr
Moradabad Samajwadi Party Councillor Alleges Bjp Workers Beaten Up For Tying Red Turban - मुरादाबाद:...
Bihar: भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने की मांग का BJP ने किया समर्थन, JDU और RJD को मंजूर नहीं – News18 ...
Population Increased By More Than 60 Lakhs In 20 Years In Delhi 30 Liters Of Water Per Capital Decre...
Omicron variant preparation in delhi Know arvind kejriwal government action plan corona new wave nod...
Mp Is Amazing: A Panchayat Reserved For Tribals In Sehore District Is Such Where The Same Tribal Vot...
Why is mobile phone called cell phone name based on cellular network ashas
Up election 2022 bjp and congress have special plan for wednesday other parties too have some events
Vicky kaushal would have 7 sister in laws after wedding with Katrina Kaif Know About her Siblings no...
2 killed in UP's Gorakhpur violence | यूपी के गोरखपुर हिंसा में 2 की मौत
Minor Boy Beaten To Death By Father In Nebsarai Delhi - हैवानियत: पढ़ाई नहीं की तो पिता ने पांच साल ...
Dharm sansad vivad big update all india akhada parishad apologizes on behalf of saints
How to become Crorepati in 30 years become millionaire Money Making Tips Mutual Fund SIP investment ...
Millions Looted By Taking The Family Hostage - परिवार को बंधक बनाकर लाखों की लूट

Leave a Comment