Why on every year on 07 december armed forces flag day celebrated

आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे हर साल 07 दिसंबर को मनाया जाता है. इसे सशस्त्र बल झंडा (Armed Forces flag) दिवस या झंडा दिवस (Flag Day) भी कहते हैं. इसका उद्देश्य भारतीय सशस्त्र सेना के कर्मियों के कल्याण के लिए फंड जुटाना और उनके परिवार के भलाई में इसका खर्च किया जाना है.

सशस्त्र बल झंडा दिवस की शुरुआत 7 दिसंबर 1949 के दिन से हुई. केंद्रीय मंत्रिमंडल की रक्षा समिति ने युद्ध दिग्गजों और उनके परिजनों के कल्याण के लिए सात दिसंबर को सशस्‍त्र बल झंडा दिवस (Flag Day India) मनाने का फैसला लिया था. तब से हर साल 7 दिसंबर को सशस्‍त्र बल झंडा दिवस मनाया जाता है.सरकार ने 1993 में संबंधित सभी फंड को एक सशस्त्र बल झंडा दिवस कोष में मिला दिया था.

क्यों मनाया जाता है सशस्त्र सैन्य झंडा दिवस
सशस्त्र सेना झंडा दिवस पर हुए धन संग्रह के तीन मुख्य उद्देश्य है- पहला युद्ध के समय हुए नुकसान में मदद, दूसरा सेना में काम कर रहे लोगों और उनके परिवार के कल्याण और मदद के लिए. तीसरा सेवानिवृत्त कर्मियों और उनके परिवार की मदद.

ये भी पढे़ं -तिरुपति बालाजी और बीएचयू समेत कई मंदिरों और शिक्षा संस्थानों को दान देते थे हैदराबाद निजाम

इस दिन इंडियन आर्मी (Indian Army), इंडियन एयर फोर्स (Indian Air Force) और इंडियन नेवी (Indian Navy) तरह-तरह के कार्यक्रम आयोजित करती है. कार्यक्रमों से जो धन संग्रह होता है, उसको ‘आर्म्ड फोर्सेज फ्लैग डे फंड’ में डाल दिया जाता है.

इस दिवस के जरिए देश सेना और सैन्य कर्मियों व उनके परिवार का आभार भी जताता है और उनके लिए आर्थिक फंड जुटाने का काम होता है

रक्षा मंत्रालय के तहत आने वाले केंद्रीय सैनिक बोर्ड की स्थानीय शाखाएं इस दिन धन संग्रह का प्रबंधन करते हैं. इसमें एक प्रबंधन समिति और स्वयंसेवी संगठन होते हैं.

क्यों दिए जाते हैं लाल और नीले रंग के झंडे
देशभर में सैन्य बलों के लिए गए धन संग्रह के बदले लाल, गहरे नीले और हल्के नीले रंग के झंडे दिए जाते हैं. ये तीनों रंग तीनों भारतीय सेना, नौसेना और वायुसेना का प्रतीक हैं.

ये भी पढ़ें – ये हैं दुनिया के 7 सबसे बेहतरीन संसद भवन, हैरान कर देगी इनकी खूबसूरती

ये दिन हमें इस बात का भी ध्यान दिलाता है कि सीमा पर मुश्किल हालातों में डटे जवानों के परिजनों के लिए हम भी कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं.

वेबसाइट पर जाकर भी कर सकते हैं मदद
आपको बता दें कि इस दिन देश के लाखों लोग सेना के जवानों के लिए आर्थिक सहयोग में भागीदारी निभाते हैं. इसके अलावा कोई भी इच्‍छुक व्‍यक्ति केंद्रीय सैनिक बोर्ड की वेबसाइट पर जाकर भी ऑनलाइन अपना सहयोग इसमें कर सकता है.

Tags: Indian air force, Indian Armed Forces, Indian army, Indian navy

Related posts:

Jharkhand High Court Slams Cbi In The Murder Case Of Dhanbad Judge Said That Murderer Already Knows ...
Phone bhoot release date out starring katrina kaif ishaan khattar and siddhant chaturvedi
Dharm Sansad: Constitutionally Declared India 'sanatan Vedic Hindu Rashtra' - धर्म संसद : सांविधानिक...
Separate Railway Track For Indian Army In Leh On Bhanupali Bilaspur Beri Manali Leh Railway Line - ड...
Rishabh Pant out on 3rd ball in india vs south africa 2nd test while indulging in talks with Rassie ...
Alia Bhatt starrer RRR gets a new release date clash with Kartik Aaryan Bhool Bhulaiyaa 2 an
Demand to open school in haryana from 1st to 9th class class parents said children became lazy sitti...
How bjp preparing yogi adityanath hema malini rallies in bageshwar amid restrictions by election com...
Jssc Cgl 2022 Jharkhand Staff Selection Commission Released Notification For Recruitment On Various ...
Healthy breakfast ideas to control weight gain and Obesity in hindi pra
Mohammed Shami Desh ka sher hai say Danish Kaneria after India vs South Africa first Test - पाकिस्ता...
Buying clothes in not dear in new year 2022 as gst council withdraws hike of 12 percent gst from 5 o...
Plumber found 4 crore rupees in church bathroom wall returns gets prize of 15 lakh america news asha...
Supertech Tells Supreme Court it Forwarded Cheques For Payment To Homebuyers - Supertech ने सुप्रीम ...
Mla Mahendra Bhati Murder Case: Nainital High Court Acquitted Karan Yadav For Lack Of Evidence - विध...
First Read The Guru Granth Sahib On The Ghazipur Border And Then Farmers Caught The Path Of Home - क...

Leave a Comment